Site icon filmyyatra

Bawaal 2023 Best Movie Review

Varun और Jhanvi की जोड़ी मचा रही है Bawaal

वरुण धवन 36 साल के एक उभरते हुए बॉलीवुड के कलाकार हैं जो अपने अभिनय को अपनी हर आने वाली फिल्म में निखारते हुए अपने fans के सामने ला रहे हैं। उनकी कुछ फिल्में जैसी: बदलापुर, अक्टूबर, बद्रीनाथ की दुल्हनिया जैसी फिल्मों में उन्होंने अपनी दमदार एक्टिंग का सबूत भी दिया है। वैसी ही उनकी एक फिल्म जो हाल ही में रिलीज हुई है “Bawaal” जिसका जिक्र हर किसी के जुबान पर है जिसमें वरुण धवन अपने लखनऊ वाले अंदाज में दिखेंगे जो मिड-स्कूल में हिस्ट्री टीचर का रोल निभाते हैं।

Bawaal Story :

Bawaal फिल्म की शुरुआत वरुण धवन (उर्फ अज्जू भैया) की bullet पर Bawaal एंट्री से होती है। जहां से भी वो गुज़रते हैं, देखने वाले उन्हें सलाम करते अब चाहे वो स्टूडेंट हो, किसी दुकान का मालिक, यहां तक कि ट्रैफिक पुलिस, इससे आप ये तो समझ ही गए होंगे कि फिल्म में अज्जू भैया की जो इमेज है वो पूरे लखनऊ शहर में मशहूर है। अब एक मिड-स्कूल के history teacher की छवि ऐसी कैसी बनी ये तो आपको आगे पढ़ कर ही पता चलेगा।

Bawaal फिल्म एक मिड-स्कूल में पढ़ा रहे history teacher की कहानी है जो बहुत मेहनत से पूरे लखनऊ शहर में अपनी इमेज बनाते है, और जिसके लिए इमेज ही सब कुछ होता है । शहर का बच्चा-बच्चा अज्जू भैया/अजय सर से वाकिफ होता है, मगर उन्हें ज्ञान देने का बहुत शौक होता है। उसके बीच में उनकी शादी निशा (जाह्नवी कपूर) से होती है जो हर मामले में अजय से बेहतर होती है।

पर उन दोनों के रिश्ते में शादी के तुरंत बाद ही दरार पैदा हो जाती है क्यों कि निशा को दौरे की बिमारी होती है जो निशा ने शादी के पहले अजय को बताया होता है कि 10 साल से उसे दौरे नहीं आये, लेकिन निशा को अजय के साथ जाने के ठीक पहले उसे दौरा आजता है, जो अजय अपनी आंखों से देख लेता है और उसे इस बात का झटका लगता है, पर अपनी इमेज को बनाये रखने के लिए वो निशा को अपने साथ अपने घर ले तो आता है पर दोनों के बीच सिर्फ दूरियां ही होती हैं।

एक सुबह अज्जू भैया का घर पर बेहेस हो जाता है, जिसका गुस्सा क्लास में एक बच्चे के विश्व युद्ध के सवाल पर आता है जिसका जवाब अजय सर को पता नहीं होता और क्लास में बच्चे उन पर हंसने लग जाते हैं, वही अजय सर बच्चे को एक थप्पड़ मार देता है. जिसका नतीजा उन्हें भुगतान पड़ता है क्यू की वो MLA का बेटा होता है, स्कूल से उन्हें 15 दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया जाता है और उन पर अनुशासनात्मक समिति बैठा दी जाती है ये पता लगाने के लिए कि आखिर वो बच्चों को पढ़ने के लिए अजय सर काबिल हैं या नहीं।

After Interval :

अपनी खोई हुई इमेज वापस पाने के लिए अज्जू भैया एक तरकीब निकालते हैं कि, बच्चों को वो सोशल मीडिया के माध्यम से उन्ही जगहो पर जाकर पढ़ाएंगे जहां विश्व युद्ध हुआ था। इसके लिए वो जान्हवी कपूर को अपने साथ लेकर जाने का फैसला करते हैं क्योंकि वो ज्यादा पढ़ी लिखी होती है और अज्जू भैया को अपने पिता जी से जाने के पैसे भी तो लेने होते हैं।

और उनके माता पिता ये सोच कर भेजते हैं इसी बहाने उनके रिश्ते में कुछ सुधार तो आएगा। पर उन्हें ये नहीं पता होता है कि निशा उनके बेटे अजय को तलाक देने का सोचती है ये बात उन्हें तब पता चलती है जब अजय की मां निशा के दराज में ज्वैलरी लेने जाती है।

यूरोप में उन 15 दिनों में अजय सर बच्चों को वॉर साइट्स पर जाकर पढ़ते हैं और साथ ही उन दोनों के बीच की दूरियां भी खत्म होने लगती हैं। उधर ही उन बच्चों का सरप्राइज़ टेस्ट भी लिया जाता है ताकि ये पता लगाया जा सके कि अजय सर ने यूरोप में जाकर वहां से बच्चों को पढ़ाया ही है या फिर घुमने फिर गए हैं।

वापस आने पर दोनों को एक साथ देख कर अज्जू भैया के माता-पिता बहुत खुश होते हैं। और स्कूल जाने पर अज्जू भैया अपनी गलती मान कर सब से माफ़ी मांगते हैं और अपना इस्तीफा पत्र दे देते हैं, उसी पर हमारे बच्चे के पिता मुकेश तिवार जो एक एमएलए होते हैं वो बच्चों के टेस्ट पेपर का स्कोर बताते हैं और ये कहते हैं अजय सर जैसा कोई नहीं और उनका सस्पेंशन रद्द कर दिया जाता है। और इसी तरह अज्जू भैया अपने जुगाड़ से अपनी नौकरी अपनी इमेज और अपना रिश्ता बचा लेते हैं।

Bawaal क्यों देखें?

वरुण धवन अपने किरदार में डूब जाते हैं और यूपी/लखनऊ वाले किरदार का तो जवाब ही नहीं है।

वरुण धवन और जान्हवी कपूर की जोड़ी स्क्रीन पर पहली बार आ रही है।

एक बहुत ही सरल और प्यारी कहानी है Bawaal की जो परिवार के साथ भी देखी जा सकती है

Exit mobile version